kalimata mandir kahani gorakhpur24

KaliMata Mandir Kahani Gorakhpur : जमीन फाड़कर निकली काली मां, जाने पुरी कहाँनी

जानकारी

KaliMata Mandir Kahani Gorakhpur : आपने गोलघर-गोरखपुर स्तिथ काली माता मंदिर के बारे मे सुना ही होगा और साय्द वहा दर्शन भी किया होगा ।लेकिन क्या आपको काली माता मंदिर की पुरी कहाँनी मालुम है अगर नही तो हम आज आपको बताते है कहाँनी । और अभी तक आपने माता के मंदिर मे दर्शन नही किया तो आप जाकर कर सकते है ।

माता काली का मंदिर गोलघर मे स्तिथ है , यह मंदिर गोरखपुर रेलवे स्टेसन से करिब 2 किलोमिटर दुरी पर है , आप यहा किसी से भी इस मंदिर के रास्ता पुछेंगे तो वो आपको बता देगा ।

यहा रोज हजारो की संख्या मे भक्त पुजा करने आते है , आपको बता दे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्रि योगी आदित्यनाथ से लेकर भोजपुरी फिल्म अभिनेता और गोरखपुर के सांसद रवि किशन जी भी काली माता मंदिर मे दर्शन करके माता का आशिर्वाद लेते है ।

नवरात्र के समय इस मंदिर मे पैर रखने भर की भी जगह नही मिलती है । यानी साफ शब्दो मे कहा जाये तो नवरात्र के समय मे यहा ज्यादा भिड होती है । जाने KaliMata Mandir Kahani Gorakhpur ।

काली माता मंदिर की कहाँनी (KaliMata Mandir Kahani Gorakhpur )

KaliMata Mandir Kahani Gorakhpur

कहा जाता है गोलघर गोरखपुर की काली माता जमिन फाड कर निकली है , पहले उस स्थान पर जंगल हुवा करता था । उस जंगल मे एक जगह माता का मुखडा जमिन फाड कर निकला , जिसके बाद लोग वहा पुजा अर्चना शुरु कर दिये । जहा यह मुखडा निकला था वहा एक निम का पेङ था उस पेङ के निचे एक पिंड था जब मंदिर वहा नही बना था तो लोग उसी पिंड की पुजा किया करते थे । आज भी वह मुखडा मंदिर मे है ।

KaliMata Mandir Kahani Gorakhpur

लोगो के अनुसार लाला रामअवतार शाह को एक रात स्वपन आया की यहा पर एक मंदिर का निर्माण करायें जिसके अनुसार उन्होने एक छोटे मंदिर का निर्माण कराया ।

क्या कहते है लोग KaliMata Mandir Kahani Gorakhpur

KaliMata Mandir Kahani Gorakhpur

लोगो के कहना है कि माता के मंदिर मे जो कोई भी सच्चे दिल से कुछ मांगता है तो उसकी वह मनोकामना जरुर पुरी होती है , लोगो का कहना है माता के मंदिर से कोई निराश होकर नही जाता है ।

अगर आपको हमारी यह काली माता वाली पोस्ट अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तो और परिजनो के साथ शेयर करे ताकि माता की कहाँनी और ज्यादा लोगो तक पहुच सके ।

धन्यबाद

आप हमे फेसबुक पर फालो करे ।

आप हमे ट्विटर पर भी फालो कर सकते है ।

Tarkulha Devi Mandir Kahani : क्या है माता तरकुलहा देवी मंदिर की कहानी

Budhiya Mata Mandir Kahani – गोरखपुर के बुढि़या माई मंदिर की कहाँनी , आइये जाने पुरी कहाँनी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *