गोरखपुर के कस्टम इंस्पेक्टर ज्वाला जीत सिंह ने KBC के मंच पर बढ़ाया शहर का मान

गोरखपुर: गोरखपुर बिछिया निवासी और नासिक में तैनात कस्टम इंस्पेक्टर ज्वाला जीत सिंह ने KBC के मंच पर धमाल मचाते हुए, अपने शहर गोरखपुर का मान बढ़ा दिया

देवरिया जिले के लार पिपरा निवासी के मूल निवासी और पीएसी में हेड कांस्टेबल पीएसी सुनील कुमार सिंह बिछिया में मकान बनवाकर रहते हैं, ज्वाला जीत सिंह उनके इकलौते बेटे हैं |

बता दे कि 2009 में ज्वाला जीत सिंह कस्टम इंस्पेक्टर के पद पर चुने गये, उनकी पहली पोस्टिंग नासिक मे हुई , इस समय भी वह नासिक में ही कार्यरत हैं ।

कौन बनेगा करोड़पति टीवी शो में शामिल होकर ज्वाला जीत सिंह ने अपने परिवार के साथ-साथ अपने शहर गोरखपुर का भी नाम और मान बढ़ा दिया ।

केबीसी में इनका चयन मोबाइल पर कंप्यूटराइज्ड सवाल-जवाब का कई दौर के बाद हुआ था। लॉकडाउन के दौरान 9 मई से 23 मई के बीच प्रतिदिन एक सवाल पूछा जाता था जिसका जवाब वह मैसेज द्वारा भेजते थे।

तकरीबन एक माह बाद उनके पास केबीसी से फोन आया और बताया कि आप चुन लिए गए हैं। 

इसके बाद एक दिन उनसे कम्प्यूटराइज्ड तीन सवाल पूछे गए जिनके जवाब उन्होंने भेज दिए। तकरीबन बीस दिन बाद फोन मिला और केबीसी द्वारा उनका ऑनलाइन इंटरव्यू हुआ।

Jwala Jeet singh

सोनी लिव एप के जरिए पुछे गये सवाल

सोनी लिव एप के जरिये उनसे 22 सवाल पूछे गए। हर सवाल का जवाब देने के लिए 15 सेकेंड का समय मिला।

एप के जरिए ही उन्हें 6 टॉपिक भेजे गए जिन पर वीडियो बनाकर भेजना था। उन्होंने वीडियो बनाकर भेजा जिसके बाद उनका दोबारा ऑनलाइन इंटरव्यू लिया गया। इसके बाद उनका पर्सनल इंटरव्यू किया गया।

ज्वाला जीत सिंह ने बताया कि 17 अक्तूबर को उन्हें मुंबई बुलाया गया। वहां पहुंचने पर उनका कोरोना टेस्ट हुआ। हफ्ते भर उन्हें रोका गया। इसके बाद उन्हें केबीसी में शामिल होने का मौका मिला। ज्वाला ने बताया कि उनसे 12 सवाल पूछे गए जिनके जवाब उन्होंने दिए।

ज्वाला जीत ने बताया कि वह कार्यक्रम में जाने से पहले बहुत डरे हुए थे। ऐसे में अमिताभ बच्चन ने उन्हें हिम्मत दी।

प्रारंभिक शिक्षा-दीक्षा से लेकर पोस्ट ग्रेजुएशन तक उनकी पढ़ाई गोरखपुर में ही पूरी हुई है। उनके पिता ने बताया कि केबीसी के मंच पर बेटे को देखकर बड़ी खुशी मिली। यह पल कभी नहीं भूलेगा।

Gorakhpur News

Leave a Comment