History of Gorakhpur Gorakhnath

History of Gorakhpur Gorakhnath – गोरखपुर शहर का इतिहास और गोरखनाथ मंदिर

जानकारी

History of Gorakhpur Gorakhnath – दोस्तो आज मै काजल आपके लिए लेकर आयी हुँ अपने शहर गोरखपुर का इतिहास और गोरखनाथ मन्दिर की कहानी । आज मै आपको अपने शहर गोरखपुर के बारे मे हर खुबी और History of Gorakhpur Gorakhnath के बारे मे बनाने वाली हुँ |

वैसे तो जिला गोरखपुर के बारे मे लिखने की जरुरत नही है , क्युकि जिला गोरखपुर साय्द ही कोई हो जो न जानता हो । हमारे शहर मे बारे मे अपने ही देश मे नही विदेशो मे भी इसके बहुत ही चर्चे है |अन्य देशो मे कहा जाये की हम उत्तर प्रदेश के रहने वाले है तो भले ही कोई जाने न जाने लेकिन आप अगर गोरखपुर के है कहोगे तो आपको लोग जरुर जानेगें |

गोरखपुर प्राचिन सस्कृति और सभ्यता का केन्द्र है , आपको बता दे गोरखपुर मे राप्ती और रोहिणी नदियों का संगम होता है । गोरखपुर के पास ही एक जिला है जिसका नाम है कुशीनगर इसे तो आप जानते ही होगे , कुशीनगर का पहले नाम कुशिनारा था लेकिन बाद मे इसे बदल कर कुशीनगर कर दिया गया |

आपने गौतम बुद्ध का नाम तो सुना ही होगा गौतम बुद्ध ने भी कुशीनगर मे ही अपना शरिर त्यागा था , कुशीनगर मे लोग विदेशो से घुमने आते है यह एक पर्यटन स्थल भी है । भगवान महाबीर भी कुशीनगर के पास ही यही पैदा हुवे थे , जहा वो पैदा हुवे थे उस स्थान का नाम है पावापुरी जो की कुशीनगर से बहुत ज्यादा दुर नही है |

तो दोस्तो चलिए जानते है गोरखपुर की कहानी |

History of Gorakhpur Gorakhnath, Gautam Buddh Kushinagar

कहानी गोरखपुर की ( History of Gorakhpur )

मध्यकालिन समय मे , एक सन्त हुवा करते थे जिनका नाम था गोरक्षनाथ उन्ही के नाम पर आज हमारे शहर का नाम है गोरखपुर , हमारे गोरखपुर शहर मे एक बहुत ही अच्छी मन्दिर है जिसे आप जानते ही होगे गोरखनाथ मन्दिर ।

हमारे शहर मे बहुत ही प्रसिद्ध मन्दिर है तो चलिए देखिये प्रसिद्ध मन्दिर की लिस्ट जहा भक्तो का ताता लगा रहता है यहा प्रतिदिन हजारो भक्त दर्शन के लिए जाते है बहुत दुर-दुर से लोग दर्शन के लिए आते है ।

भारत के प्रसिद्ध कवि और प्रसिद्ध सन्त कबीर भी यहीं रहते थे और मगहर नाम का एक गाँव उन्होने अन्तिम सास लिया था , आपको बता दे मगहर गोरखपुर शहर से लगभग किमी दुर है यह सन्तकबिर नगर जिले मे आता है इस जिले का नाम भी कवि कविरदास के नाम पर ही रखा गया है ।

आज हमारा शहर बहुत आगे जा चुका है , हमारे शहर मे भी AIIMS Gorakhpur खुल गया और भी यहा बाकी अच्छे काम हुवे है । अगर आप कभी गोरखपुर नही आए है तो आपको एक बार यहा आना चाहिये ।

AIIMS Gorakhpur

दुनिया का सबसे लम्बा प्लेटफ़ार्म ( World’s Longest Platform , Gorakhpur )

World Longest Railway Station , Gorakhpur Railway Station , History of Gorakhpur Gorakhnath

गोरखपुर शहर का रेलवे प्लेटफ़ार्म दुनिया का सबसे लम्बा प्लेटफ़ार्म मे आता है , इससे तो पुरी दुनिया जरुर से गोरखपुर शहर के बारे मे जानती है । यह 1.34 किलोमीटर (0.83 मील) लंबाई मे है ।

हमारे शहर मे और भी बहुत अच्छी-अच्छी चिजे है । आप निचे कमेन्ट जरुर करना और बताना क्या आप कभी गोरखपुर आये है या फ़िर अगर आप गोरखपुर के है तो आपको अपना शहर कैसा लगता है ।क्या कभी आपने Gorakhpur ka itihaas पढा़ है ।

गोरखपुर के गौरव (History of Gorakhpur Gorakhnath)

गोरखपुर राहुल सांकृत्यायन का जन्म स्थान है। प्रसिद्ध हिन्दी लेखक मुंशी प्रेमचन्द की कर्मस्थली भी यह शहर रहा है।

  • योगी आदित्य नाथ ( मुख्यमन्त्रि उत्तर प्रदेश )
  • अवैद्यनाथ जी महाराज
  • राहुल सांकृत्यायन 
  • मुंशी प्रेमचन्द 
  • कबीरदास्
  • भगवान महाबीर

गोरखनाथ मन्दिर के बारे मे ( Gorakhnath Temple, Gorakhpur )

मकर संक्रान्ति के अवसर पर हर साल यहा बहुत ही बङा मेला लगता है और यहा हजारो के सख्या मे लोग दर्शन करने आते है ।

लोगो का कहना है कि गोरखनाथ मन्दिर से कोई भी भक्त खाली हाथ नही जाता है वह जो मांगता है वह पुरा जरुर होता है ।

अगर आपको हमारी गोरखपुर की यह आर्टीक्ल पसन्द आयी है तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करे ताकि आपके शहर के बारे मे और लोग भी जान सके ।
__धन्यवाद
__

मुझसे फ़ेसबुक पर जुङे

ट्विटर पर फ़ालो करे

Famous Places to Visit in Gorakhpur

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *