HURL Gorakhpur

HURL Gorakhpur – गोरखपुर मे विश्व का सबसे उचा ऊंचा प्रीलिंग टॉवर बनकर तैयार

गोरखपुर

HURL Gorakhpur :- गोरखपुर का नाम विश्व स्तर पर जाना जाता है उसका देन है हमारे गोरखपुर का सबसे लम्बा रेलवे प्लेटफ़ार्म , गोरखपुर का रेलवे प्लेटफ़ार्म विश्व का सबसे लम्बा प्लेटफ़ार्म के नाम से दर्ज है ।

लेकिन अब से हमारा गोरखपुर शहर विश्व मे फ़िर एक बार पहले नम्बर पर आ गया है जिसका देन है गोरखपुर का HURL Gorakhpur ( Hindustan Urvarak & Rasayan Limited ) का गोरखपुर कारखाना |

विश्व मे अभी तक जितने भी युरिया कारखाने के प्रीलिंग टावर बने है उन सभी से भी उचा है हमारे HURL Gorakhpur के कारखाने का प्रीलिंग टावर |

आपको बता दे अभी तक पाकिस्तान के दहरकी शहर में एंग्रो फर्टिलाइजर्स लिमिटेड द्वारा बनाए गए प्रीलिंग टॉवर को ही दुनिया का सबसे उचा प्रीलिंग टॉवर माना जाता था , लेकिन धनतेरस के एक दिन पहले से यह बदल गया क्युकि धनतेरस के एक दिन पहले गोरखपुर के HURL का प्रीलिंग टॉवर बनकर तैयार हो गया है ।

HURL द्वारा यह कारखाना 7085 करोड़ की लागत से बनाया जा रहा है। बताया जा रहा है यह कारखाना भारत का सबसे बङा खाद कारखाना होगा ।

HURL Gorakhpur ( Fertilizer Gorakhpur ) के प्रीलिंग टॉवर की उचाई कुतुबमिनार के लगभग दोगुना है , आपको बता दे कुतुबमिनार 72 मिटर का है लेकिन प्रीलिंग टॉवर लगभग 150 मिटर उचा है ।

युवाओ के लिए नौकरी का जरिया

आपको तो पता ही होगा किसी भी कारखाने को चलाने के लिए मैनपावर की जरुरत पङती है और गोरखपुर मे भी पङेगी तो यह गोरखपुर और आस​-पास के युवाओ के लिए सुनहरा मौका है ।

पहले उत्तर प्रदेश या हमारे शहर मे कारखाने न होने से युवाओ को दुसरे शहर जाना होता था लेकिन अब वे अगर काबिल और योग्य है तो अपने ही शहर मे नौकरी कर सकते है ।

आप मुझसे फ़ेसबुक पर जुङे

ट्विटर पर फ़ालो करे

काली माता मन्दिर कहानी गोल्घर गोरखपुर